Friday, February 4, 2011

विंडो दोबारा इन्स्टॉल करने पर कैसे बचें


अगर आप अपने पीसी में restriction लगाना चाहते है , जैसे अगर कोई आपके पीसी में सॉफ्टवेयर इन्स्टॉल करना चाहे तो उसे एक्सेस डिनाइड मिले। इसी तरह अगर कोई आपके सिस्टम में हार्डवेयर लगाना चाहे तो भी उसे एक्सेस डिनाइड मिले। इसके लिए क्या करना चाहिए?

कंप्यूटर सिक्युरिटी अपने आप में एक बहुत बड़ा विषय है। आप जो चाहते हैं, उसे करने के कई तरीके हैं। विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम भी हमें ऐसी सुविधा देता है, जिसमें हम यूजर को एक ऐडमिनिस्ट्रेटर या फिर स्टैंडर्ड यूजर डिफाइन कर सकते हैं। वैसे, विंडोज में बेसिक सिक्युरिटी हासिल करने के लिए काफी तकनीकी समझ की जरूरत है। इसलिए मेरी राय में आपको एक ऐसा एंटी-वायरस सॉफ्टवेयर इस्तेमाल करना चाहिए, जो full protection suite के साथ आता है। इस सॉफ्टवेयर में एक मेन्यू आता है। आप एक पासवर्ड के साथ इन सब सेटिंग्स को प्रोटेक्ट कर सकते हैं। उदाहरण के तौर पर mcafee security protective suite के access protection menu में antivirus standard protection और antivirus maximum protection जैसे मेन्यू हैं। ये बेसिक प्रोटेक्शन देने में काफी हद तक मददगार हो सकते हैं। हर एंटी-वायरस सॉफ्टवेयर में प्रोटेक्शन का अलग तरीका है, इसलिए आप जो भी एंटीवायरस लें, उसके नियमों के मुताबिक उसे प्रोटेक्ट कर सकते हैं।

जब विंडोज को दोबारा इन्स्टॉल किया जाता है, तो इसके सभी इंटरनेट अपडेट्स, सिक्युरिटी अपडेट्स और विंडो अपडेट्स विंडोज ड्राइव से डिलीट हो जाते हैं। इन्हें कैसे बचाया जा सकता है?

इस समस्या का हल आप किसी भी डिस्क क्लोनिंग सॉफ्टपवेयर को यूज करके कर सकते हैं। Ghost एक डिस्क क्लोनिंग सॉफ्टवेयर है। यह आपकी हार्ड डिस्क की इमेज बनाकर उसकी एक फाइल बना देता है। आप जब भी अपने विंडोज के अपडेट्स लगाते हैं, तो इस सॉफ्टवेयर की मदद से अपनी हार्ड डिस्क की एक इमेज फाइल तैयार कर सकते हैं। जब आपका कंप्यूटर ठीकठाक काम कर रहा हो, उस वक्त इस सॉफ्टवेयर की मदद से हार्ड डिस्क की इमेज फाइल बनाकर रख लें। प्रॉब्लम आने पर आप इस इमेज फाइल की मदद से अपने पीसी को उसी अवस्था में ला सकते हैं, जिसमें यह फाइल बनाई थी।

मेरा पीसी 4 साल पुराना है। इसकी रैम 1 जीबी है, हार्ड डिस्क 80 जीबी है। इसमें विंडोज 7 इन्स्टॉल नहीं हो पा रही है। ऐसा क्यों है? एक पाठक

अगर आप यह जानना चाहते हैं कि आपके कंप्यूटर पर विंडोज 7 चलेगा या नहीं, तो इसका एक तरीका है। आप http://www.microsoft.com/windows/windows-7/get/upgrade-advisor.aspx पर जाएं। यहां आपको माइक्रोसॉफ्ट विंडोज अपग्रेड अडवाइजर के नाम से एक यूटिलिटी मिलेगी, जिसे आप डाउनलोड कर सकते हैं। जब आप इसे अपने कंप्यूटर पर रन करेंगे तो वह आपको इसकी पूरी जानकारी देगा। आप इस जानकारी की मदद से अपने कंप्यूटर को अपग्रेड करवा सकते हैं। इस यूटिलिटी को रन करने से पहले अपने कंप्यूटर के साथ अटैच सभी peripherals जैसे प्रिंटर, यूएसबी ड्राइव या कैमरा आदि को ऑन कर दें।

अब नहीं होगा कंप्यूटर हैंग


कंप्यूटर हैंग होने के कई कारण हो सकते हैं। हार्डवेयर या सॉफ्टवेयर में किसी खराबी के कारण कंप्यूटर हैंग हो सकता है।

-
सबसे पहले अपने कंप्यूटर का पावर सोर्स चेक करवाएं। उसमें प्रॉपर अर्थिंग रहनी चाहिए।

-
कंप्यूटर को किसी अच्छे ब्रैंड के UPS के जरिए लगाएं।

-
कई बार धूल-मिट्टी फंस जाने से कंप्यूटर के पावर सप्लाई का फैन जाम हो जाता है जिससे सप्लाई गर्म होने के कारण आग लगने का खतरा हो जाता है। इसके अलावा कंप्यूटर की सर्विस करवाते रहें जिससे वह ठंडा रहेगा और सही काम करेगा।

-
कंप्यूटर CPU कैबिनेट में मदरबोर्ड, RAM, और हार्ड डिस्क आदि होते हैं। कई बार RAM साकेट पर लूज हो जाता है। इसे किसी एक्सपर्ट से चेक कराकर फिर से साकेट में लगवा लें, साथ ही यह भी चेक करवा लें कि RAM चिप ठीक काम कर रहा हो नहीं तो इसे बदल दें। कई बार यह भी देखा गया है कि किसी वजह से कंप्यूटर प्रोसेसर का फैन बंद हो जाता है जिस कारण प्रोसेसर हीट-अप होने के बाद हैंग होने लगता

- हार्डवेयर के अलावा कंप्यूटर सॉफ्टवेयर की वजह से भी हैंग होता है। इसके लिए आप अपने कंप्यूटर को ऑन करके जैसे ही विंडो स्क्रीन आने लगे F8 दबा दें। आपके सामने मेन्यू जाएगा, इस मेन्यू में आप सेफ मोड़ चुन लें। ऐसा करने से विंडो सेफ मोड़ में BOOT हो जाएगी।

- सेफ मोड़ में BOOT हो जाने पर पहले Start पर क्लिक करके Run में msconfig टाइप करें। आपके सामने System Configuration Utility Box खुल जाएगा, इसमें General Tab में Diagnostic Startup-Load basic device and drivers only पर क्लिक करके Ok दबाएं।

- कंप्यूटर को रीस्टार्ट कर लें। अब कंप्यूटर सिर्फ बेसिक सॉफ्टवेयर कंपोनेंट्स को ही लोड करेगा। इसके बाद कुछ देर तक अपना कंप्यूटर चलता रहने दें और चेक करें कि कंप्यूटर हैंग हो रहा है?

अगर अब भी आपका कंप्यूटर हैंग हो रहा हो तो अपने डाटा का बैकअप लें और कंप्यूटर में Windows OS दोबारा लोड करवा लें। लेकिन अगर ये बूट होने के बाद हैंग नहीं करता तो इसका मतलब है कि कोई सॉफ्टवेयर एप्लिकेशन या सॉफ्टवेयर ड्राइवर ठीक से काम नहीं कर रहा है। इसे चेक करने के लिए आप किसी कंप्यूटर एक्सपर्ट की मदद लें। वह कंप्यूटर में लोड होने वाले सभी सॉफ्टवेयर ड्राइवर या एप्लिकेशन को चेक करके आपको बता देगा कि कौन-सा सॉफ्टवेयर कंप्यूटर को हैंग कर रहा है।

बिना सॉफ्टवेयर बनाएं ऑफिस के डॉक्युमेंट




zoho.com

यह वेबसाइट उन लोगों के काफी काम की है जो माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस, सॉफ्टवेयर के बिना ही सारे काम करना चाहते हैं। यहां बेहद उपयोगी ऑनलाइन ऑफिस सूट उपलब्ध है जो कभी भी, कहीं भी वर्ड प्रोसेसिंग, एक्सल, पावरप्वॉइंट और डेटाबेसेज आदि के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है। इस वेबसाइट को डिवेलप करने वाली जोहो कॉरपोरेशन एक भारतीय कंपनी है। जोहो पर उपलब्ध प्रमुख सेवाओं में वर्ड प्रोसेसर, शीट, रिपोर्ट्स, प्रोजेक्ट्स, प्लैनर, चैट, मेल आदि हैं।

साईट पे जाने के लिए यहाँ क्लिक करे

स्मार्ट टिप
अगर आप कोई नया डॉक्युमेंट बनाना चाहते हैं तो control+n दबाएं।

आपके कंप्यूटर की IP और अप कहा बैठे है